Sunday, June 16

कहीं घर में वास्तुदोष तो नहीं

0
Sharing

आचार्य नरेश वशिष्ठ (संकलनकर्ता)

घर में खुशहाली लाने के लिए हमें सकारात्मक माहौल रखना होगा। साथ ही वास्तुदोषों को दूर करना होगा। हम जिस स्थान पर रहते हैं, उसे वास्तु कहते हैं। इसलिए जिस जगह रहते हैं, उस मकान में कौन-सा दोष है, जिसके कारण हम दुख-तकलीफ उठाते हैं, इसे स्वयं नहीं जान सकते। हमें यह भी पता नहीं रहता कि उस घर में नकारात्मक ऊर्जा है या सकारात्मक। वास्तु में प्रत्येक स्थान का जगह तय है और इसमें फेरबदल होने से वास्तु दोष होता है।  ईशान अर्थात् ई-ईश्वर, शान-स्थान। इस स्थान पर भगवान का मंदिर होना चाहिए एवं इस कोण में जल भी होना चाहिए। यदि इस दिशा में रसोई घर हो या गैस की टंकी रखी हो तो वास्तुदोष होगा।

प्रमुख व्यक्तियों का शयन कक्ष नैऋत्य कोण में होना चाहिए। बच्चों को वायव्य कोण में रखना चाहिए। शयनकक्ष में सोते समय सिर उत्तर में, पैर दक्षिण में कभी न करें। अग्निकोण में सोने से पति-पत्नी में वैमनस्यता रहकर व्यर्थ धन व्यय होता है। ईशान में सोने से बीमारी होती है। पश्चिम दिशा की ओर पैर रखकर सोने से आध्यात्मिक शक्ति बढ़ती है। उत्तर की ओर पैर रखकर सोने से धन की वृद्धि होती है एवं उम्र बढ़ती है।

 फेंगशुई के अनुसार घर का मुख्य प्रवेश द्वार पूर्व व अग्नि कोण के द्वार का रंग सदैव हरा या नीला रखना चाहिए। दक्षिण दिशा के प्रवेश द्वार का रंग हरा, लाल, बैंगनी, केसरिया होना चाहिए। नैऋत्य और ईशान कोण का प्रवेश द्वार हरे रंग का या पीला केसरी या बैंगनी होना चाहिए। पश्चिम और वायव्य दिशा का प्रवेश द्वार सफेद या सुनहरा होना चाहिए। उत्तर दिशा का प्रवेश द्वार आसमानी सुनहरा या काला होना चाहिए। बेडरूम में टेबल गोल होना चाहिए। बीम के नीचे व कालम के सामने नहीं सोना चाहिए। बच्चों के बेडरूम में कांच नहीं लगाना चाहिए। मिट्टी और धातु की वस्तुएं अधिक होना चाहिए। ट्यूबलाइट की जगह लैम्प होना चाहिए। 

घर में न लगाये ये तस्वीरें: घर को सजाने के दौरान भी वास्तु का ध्यान रखना जरूरी है। इससे घर में सकारात्मकता बनी रहती है और नकारात्मकता दूर रहती है। जानवरों की तस्वीरें घर में नहीं लगानी चाहिये क्योंकि इससे उसमें रहने वालों का स्वभाव उग्र हो जाता है जिससे घर में क्लेश और तनाव बढ़ता है।  दौड़ते हुए घोड़े की तस्वीर या प्रतिमा घर में नहीं बल्कि ऑफिस में लगाएं। फव्वारे हमेशा उत्तर दिशा में ही लगाएं क्योंकि फव्वारे यदि सही दिशा में न लगाए जाएं तो पानी के साथ-साथ समृद्धि भी बह जाती है। डूबती हुई नाव की पेंटिंग घर में लगाने से आपके घर के रिश्ते भी प्रभावित होते हैं। युद्ध से जुड़े चिन्हों को रखने से घर में क्लेश बढ़ता है। किसी भी देवी देवता की प्रतिमा या पेंटिंग खरीदते समय ध्यान दें कि उनके चेहरे के भाव कैसे हैं, हमेशा मुस्कुराते हुए चेहरे ही लें।

Share.

Leave A Reply