Tuesday, November 12

दिल्ली अध्यापक परिषद की सफर रही मासिक बैठक

0
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

राहुल शर्मा
नई दिल्ली। दिल्ली अध्यापक परिषद (राजकीय निकाय) की मासिक बैठक अखिल भारतीय राष्ट्रीय शैक्षिक महासंघ के मुख्य कार्यालय मैन कृष्णा गली,मौजपुर में आयोजित की गई। बैठक में द्वि वार्षिक सदस्यता अभियान की सफलता और मेहसाणा राष्ट्रीय अधिवेशन में जाने वालों की सूची पर विस्तृत चर्चा की गई। राजकीय निकाय अध्यक्ष अजय कुमार सिंह ने सभी जिला अध्यक्षों और उनकी टीम को सदस्यता अभियान की अपार सफलता पर बधाई दी और उनका उत्साहवर्धन किया।

बैठक की अध्यक्षता वेद प्रकाश (अध्यक्ष,दिल्ली अध्यापक परिषद्,दिल्ली प्रदेश) ने की। बैठक में अध्यापकों की विशेष समस्याओं से प्रदेश अध्यक्ष जी को अवगत कराया गया। अध्यापकों की MACP में देरी, प्रोमोशन में देरी, प्रधानाचार्य तथा उप-प्रधानाचार्य के पद खाली पड़े हैं, सत्र के मध्य में  अध्यापकों को नई PFC को माध्यम बनाकर स्थानांतरण किया जा रहा है, अधिकांश विध्यालयों में शिक्षकों से गैर शैक्षणिक कार्य (वेतन बनाना,आफिस का समस्त क्लर्क वाला कार्य, डीलरों के बिल बनाना आदि) अनेक प्रकार के कार्य शिक्षकों से करवाये जाते हैं। इससे शैक्षिक कार्य प्रभावित होता है और छात्रों का अहित होता है।

बैठक में दिल्ली अध्यापक परिषद्, राजकीय निकाय के मंत्री, ज्ञानेन्द्र मावी , धर्मवीर शर्मा ( संयुक्त मंत्री), वृजराज पारिख (संघटन मंत्री), बलराज धामा (अध्यक्ष, उत्तर-पूर्व जिला), आदर्श कुमार (संघटन मंत्री, उत्तर-पूर्व जिला), संतोष रॉयजी (अध्यक्ष -जिला उत्तरी) विक्रम डाबला (अध्यक्ष-जिला उत्तर पश्चिम।) धर्मेद्र मणि त्रिपाठी (मंत्री-जिला उत्तर पश्चिम A), ओमप्रकाश सचवानी (अध्यक्ष-जिला उत्तर पश्चिम B) डॉ सुंदर सिंह परिहार (अध्यक्ष-जिला दक्षिण पश्चिम B), जगदीश सोलंकी (संगठन मंत्री-जिला पूर्वी) आदि कार्यकर्ताओं ने अपने विचार रखे। अन्त में अध्यक्ष जी ने कोर्ट केस की जानकारी दी तथा अध्यापकों की सभी समस्याओं को शिक्षा निदेशक तथा शिक्षा सचिव के सम्मुख प्रस्तुत करने का आश्वासन दिया। कल्याण मन्त्र के पश्चात बैठक को समाप्त किया गया।

Share.

Leave A Reply