Sunday, August 18

मुख्य सचिव ने पोषण अभियान की समीक्षा के दौरान वित्तीय प्रगति पर जताया असंतोष

0
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

विशेष संवाददाता
लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्य सचिव डाॅ0 अनूप चन्द्र पाण्डेय ने राज्य पोषण मिशन की 11वीं कार्य समिति की बैठक में पोषण अभियान की समीक्षा के दौरान वित्तीय प्रगति पर असंतोष व्यक्त करते हुये निर्देश दिये हैं कि पोषण मिशन के अन्तर्गत वित्तीय प्रगति में आगामी 15 जुलाई तक अपेक्षित वृद्धि दृष्टि गोचर होनी चाहिये।

मुख्य सचिव ने आज अपने लोक भवन स्थित सभाकक्ष में राज्य पोषण समिति की कार्य समिति, कन्वर्जेन्स समिति एवं कार्यकारी समिति की बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे। उन्होंने निर्देश दिये कि पोषण अभियान के अन्तर्गत राज्य परियोजना प्रबन्धन समिति (एसपीएमयू) एवं मुख्यमंत्री सुपोषण घर के तकनीकी एवं गैरतकनीकी स्टाफ की तैनाती हेतु कार्यदायी संस्थाओं के चयन तथा स्टाफ की तैनाती का कार्य प्रत्येक दशा में 15 जुलाई तक नियमानुसार पूर्ण करा दिया जाये।

डां. अनूपचन्द्र पाण्डेय ने निर्देश दिये हैं कि आगनबाड़ी केन्द्रों पर बाल सुपोषण उत्सव का आयोजन किया जाये। त्रैमासिक आधार पर आयोजित होने वाले 6 दिवसीय सत्र में माताओं, अभिभावकों तथा सामुदायिक सदस्यों, बच्चों को सुपोषण हेतु विस्तृत जानकारी दी जाये। उन्होंने निर्देश दिये कि पोषण अभियान से आच्छादित होने वाले 05 वर्ष के बच्चे, किशोरियों, गर्भवती एवं धात्री महिलाओं को सुपोषण गाईड उपलब्ध करायी जाये, जिससे वेसु पोषण के सम्बन्ध में विस्तृत जानकारी तथा उपलब्ध सुविधाओं के सम्बन्ध में परिचत हो सके।

Share.

Leave A Reply