Tuesday, September 29

आप का राजनीतिक अस्तित्व भ्रष्टाचार पर आधारित हैः चौ. अनिल कुमार

0
0Shares

राहुल शर्मा
नई दिल्ली। दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष चौ. अनिल कुमार ने आम आदमी पार्टी पर भ्रष्टाचार के गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि आप पार्टी का राजनीतिक अस्तित्व हमेशा भ्रष्टाचार पर आधारित रहा है। यह एक बार फिर सही साबित हो गया है जब दिल्ली पुलिस की अपराध शाखा ने दो जालसाज मुकेश कुमार और सुधांशु बंसल को गिरफ्तार किया, जिन्होंने मनी लॉडिंªग और अन्य गैर कानूनी गतिविधियों के लिए फर्जी दस्तावेजों के आधार पर कई फर्जी कम्पनियां बनाई, जिसके जरिए अप्रैल 2014 में आम आदमी पार्टी को 2 करोड़ रुपये दान दिए थे, इनका अब तक बचाव अरविन्द सरकार के संरक्षण के कारण ही संभव हो सका।

चौ. अनिल कुमार ने आश्चर्य व्यक्त किया कि अरविन्द को सत्ता में लाने में भागीदार भ्रष्टाचार के खिलाफ अभियान चलाने वाले ईमानदार लोग कहां है और लोकपाल के वायदे, भ्रष्टाचार मुक्त राजनीतिक के लिए स्वराज के तहत पादर्शिता का क्या हुआ? उन्होंने कहा कि अरविन्द सरकार की करनी और कथनी में अंतर है, जबकि मुख्यमंत्री खुद घोर भ्रष्टाचार में लिप्त है क्योंकि पूरा पार्टी फंड सीधे उनके नियंत्रण में है।

प्रदेश कार्यालय राजीव भवन में आयोजित संवाददाता सम्मेलन को सम्बोधित करते हुए चौ. अनिल कुमार ने कहा कि भ्रष्टाचार और घोटालों का अरविन्द सरकार पोषण कर रही है। उन्होंने कहा कि यह सुनने में आता है कि आम आदमी पार्टी ने तीन राज्यसभा सीटों में से दो सीटे ऊंची बोली लगाने वालों को बेची थी, जिनकी पार्टी के गठन में कोई भूमिका ही नही थी। उन्होंने कहा कि अरविन्द सरकार के दो मंत्रियों- सतेन्द्र जैन और कैलाश गहलोत पर सीबीआई जांच चल रही है और उत्तम नगर से विधायक नरेश बाल्यान आयकर विभाग का मुकदमा चल रहा है, जबकि आयकर विभाग को उनके घर से बेनामी 2 करोड़ रुपये बरामद हुए, जो यह साबित करता है कि अरविन्द सरकार भ्रष्टाचार के भरोसे चल रही है।

चौ. अनिल कुमार ने आरोप लगाया कि कई मीडिया रिर्पाेट के अनुसार आम आदमी पार्टी ने पंजाब, दिल्ली व अन्य राज्यों में पिछले विधानसभा चुनाव और दिल्ली नगर निगम चुनाव के प्रत्याशियों से करोड़ों रुपये एकत्रित किए, और आप संयोजक अरविन्द की आने वाले उत्तराखंड विधानसभा चुनाव लड़ने की घोषणा, केवल भ्रष्टाचार के नेटवर्क का विस्तार करने के लिए की है, न कि स्वच्छ राजनीतिक बनाने के लिए।

Share.

Leave A Reply