Wednesday, April 1

भारत की कुंडली में ऐसा होने वाला है।

2
82Shares

विश्वभर में फैल चुके कोरोना वायरस को लेकर वैज्ञानिकों की भले ही जो भी राय हो लेकिन हम ज्योतिषों की मानें तो यह महामारी ग्रहों की दशा बदलने के कारण विकराल हो रही है। आकाश मंडल में सूर्य, शनि, चंद्र, केतु के विपरीत प्रभाव के चलते महामारी फैल रही जहां तक गोचर में ग्रह स्थिति की बात है तो विगत 14 मार्च से गोचर में सूर्य अष्टमेष होकर लग्न में बैठा हुआ है। इसी दिन सूर्य ने मीन राशि में प्रवेश किया है, जिसके चलते मीनार्क की स्थिति बनी है। केतु प्रभावशील होने से जीवाणुओं का प्रकोप जब भी केतु का प्रभाव होता है तब वातावरण में जीवाणु, कीटाणु, विषाणु ज्यादा सशक्त हो जाते हैं। केतु के प्रबल होने के कारण ही विश्वभर में जीवाणु, कीटाणुओं का प्रकोप बढ़ रहा भारत की कुंडली वृषभ लग्न और कर्क राशि की है। भारत की कुंडली में इस समय चंद्र की दशा में शनि की अंतर्दशा चल रही है। इससे विष योग का निर्माण हो रहा हैं। 29 मार्च तक असर रहेगा और 14 अप्रैल तक इस महामारी पर काबू किया जाएगा। अगले तीन माह इससे बचने के लिए विशेष रूप से उपाय करे। बार-बार अपने हाथों को धोएं अपने आसपास सफाई रखे। एवम् किसी भी जगह कई लोग एकत्र ना हो।

Share.

2 Comments

Leave A Reply