Saturday, July 11

मोदी-केजरीवाल का खेल, महंगा डीजल महंगा तेलः चौ. अनिल कुमार

0
0Shares

राहुल शर्मा
नई दिल्ली। दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष चौ0 अनिल कुमार के नेतृत्व में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने दिल्ली भर में अधिकतर पेट्रोल पम्पों पर पेट्रोल और डीजल के दामों बेतहाशा वृद्धि के कारण मोदी सरकार के खिलाफ विरोध प्रदर्शन जारी रखा, क्योंकि पिछले तीन सप्ताह से केन्द्र की मोदी सरकार और दिल्ली में केजरीवाल सरकार तेल कम्पनियों के दवाब में लगातार पेट्रोलियम पदार्थों के दाम बढ़ा रही है। चौ0 अनिल कुमार महामहिम राष्ट्रपति जी को उपराज्यपाल के माध्यम से ज्ञापन देने के लिए राज निवास पर एक घोड़ा गाड़ी पर आए, ज्ञापन में उन्होंने तेल की कीमतों को तुरंत प्रभाव से वापस लेने की मांग की है, लेकिन उन्हें, अन्य कांग्रेस कार्यकर्ताओं के साथ सिविल लाईन्स पेट्रोल पम्प, नजदीक आई.पी. कॉलेज पर पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया और मौरिस नगर पुलिस स्टेशन ले जाकर उनके साथ कई कांग्रेस कार्यकर्ताओं के खिलाफ एफ.आई.आर. दर्ज की गई।

प्रदेश अध्यक्ष चौ0 अनिल कुमार के साथ गिरफ्तार होने वालांे में प्रदेश उपाध्यक्ष श्री जय किशन, श्री अभिषेक दत्त, शिवानी चोपड़ा, डा0 नरेन्द्र नाथ, कुंवर करण सिंह, मौ0 उस्मान, संदीप गोस्वामी, परवेज आलम, अनुज अत्रेय, अब्दुल वाहिद, दिल्ली सेवादल के मुख्य संगठक सुनील कुमार सहित जिला एवं ब्लाक अध्यक्ष भी शामिल थे।

कांग्रेस नेताओं ने आरोप लगाया कि दिल्ली पुलिस पक्षपातपूर्ण तरीक से काम कर रही है, क्योंकि आम लोगों को प्रभावित करने वाले मुद्दों पर भाजपा के नेता एवं कार्यकर्ता बड़े-बड़े धरने प्रदर्शन आयोजित करते है उनके खिलाफ मामले दर्ज नहीं किये जाते और जब जनता के हित में कांग्रेस के नेता उनकी आवाज उठाते हैं तो कांग्रेसी नेताओं के खिलाफ मामले दर्ज किए जाते हैं।

चौ0 अनिल कुमार ने कहा कि पेट्रोल और डीजल के लगातार 22 दिनों से दाम बढ़ने के कारण इतिहास में पहली बार डीजल के दाम पेट्रोल से भी अधिक हो गए। चौ0 अनिल कुमार ने पेट्रोल और डीजल पर केन्द्र सरकार से एक्साईज ड्यूटी और दिल्ली सरकार से वेट घटाने की मांग की। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार लोगों की दुर्दशा के प्रति असंवदेनशील है क्योंकि तेल की कीमतों में लगातार बढ़ोत्तरी के कारण फल और सब्जियों सहित अन्य आवश्यक वस्तुओं की कीमतें तेजी से बढ़ रही है। उन्होंने कहा कि जब अन्तर्राष्ट्रीय बाजार में क्रूड ऑयल की दरों में भारी कमी है, तो घरेलू बाजार में इसका फायदा लोगों को मिलना चाहिए।

चौ0 अनिल कुमार ने कहा कि मोदी सरकार और केजरीवाल सरकार दोनों ही प्राईवेट तेल कम्पनियों के दवाब में आकर उन्हें फायदा पहुंचाने के लिए पेट्रोलियम पदार्थों के दाम बढ़ा रही हैं, जबकि दिल्ली के लोग कोविड-19 महामारी के तेजी से प्रसार के चलते भयंकर संकट झेल रहे हैं और वे पेट्रोल और डीजल के दामों की बेतहाशा वृद्धि को सहने की स्थिति में नहीं है, क्योंकि लॉकडाउन के चलते यह प्राईवेट वाहन इस्तेमाल कर रहे हैं।

चौ0 अनिल कुमार ने कहा कि दिल्ली के लोग आज भी लॉकडाउन की स्थिति में है, बहुत अधिक लोगों की नौकरी जाने के साथ उनके पास रोजी रोटी का कोई जरिया नहीं है, और इस स्थिति में लोगों को राहत देने की बजाय मोदी और केजरीवाल सरकार ने लोगों के जीवन को अधिक कठिन बना दिया है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के विरोध प्रदर्शन से दिल्ली भर में केन्द्र सरकार और केजरीवाल सरकार के खिलाफ मजबूत संदेश लोगों में गया है, क्योंकि लोग इस अनुचित और अमानवीय मूल्य वृद्धि को सहने की स्थिति में नहीं है, जबकि अन्तर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतें बहुत कम है।

 

Share.

Leave A Reply