Saturday, October 24

दिल्ली के प्राइवेट अस्पतालों में 80 प्रतिशत आईसीयू बेड कोविड के लिए सुरक्षित- सतेंद्र जैन

0
0Shares
राहुल शर्मा
नई दिल्ली ; दिल्ली सरकार ने दिल्ली के सभी प्राइवेट अस्पतालों में उपलब्ध आईसीयू बेड में से 80 प्रतिशत बेड कोविड-19 मरीजों के लिए सुरक्षित करने का आदेश जारी किया है। दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सतेंद्र जैन ने कहा कि यह आदेश सभी निजी अस्पतालों पर लागू होगा। जिन निजी अस्पतालों में आईसीयू बेड अभी अन्य मरीजों से भरे हैं, उनके खाली करने के बाद उसे कोविड-19 में शामिल कर लिए जाएंगे।
सतेंद्र जैन ने कहा कि दिल्ली में कोविड के 14372 बेड में से अभी 7938 बेड भरे हैं और अभी भी 50 प्रतिशत से ज्यादा बेड खाली हैं। उन्होंने कहा कि कल दिल्ली में 60 हजार से अधिक लोगों की जांच की गई और 4321 नए केस आए, जबकि 28 लोगों की मौत हुई है। दिल्ली में पिछले 10 दिनों में मौत दर 0.68 प्रतिशत है, जबकि कुल मौत दर 2.23 प्रतिशत है।
स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुए कहा कि दिल्ली में कुल 4321 पॉजिटिव केस पाए गए, जबकि दिल्ली में कल 60 हजार से ज्यादा लोगों की जांच की गई थी। दिल्ली में पॉजिटिविटी दर 7.19 है। अभी हमारे देश में जो पॉजिटिव दर है, वह 8 परसेंट से अधिक है। दिल्ली में कल 28 लोगों की मौत हुई है। अगर हम पिछले 10 दिनों का मौत का औसत देखें, तो वह 0.68 प्रतिशत आ रही है और कुल मौत दर 2.23 प्रतिशत है। पिछले दस दिनों में मौत दर में काफी सुधार आया है।
स्वास्थ्य मंत्री सतेंद्र जैन ने कहा कि दिल्ली के अस्पतालों में पर्याप्त मात्रा में बेड हैं। हालांकि आईसीयू बेड में थोड़ी सी कमी आनी शुरू हो गई है। इसलिए  दिल्ली सरकार ने आदेश दिया है कि दिल्ली के जो 33 बड़े अस्पताल है, उन अस्पतालों में 80 प्रतिशत आईसीयू बेड कोविड मरीजों के लिए रखना होगा और बाकी 20 प्रतिशत बेड यह अस्पताल अन्य मरीजों के लिए इस्तेमाल कर सकते हैं। यदि इन अस्पतालों में आईसीयू बेड किसी अन्य मरीज से भरे हुए हैं, तो उन मरीजों से खाली होने के बाद उन्हें कोविड बेड में शामिल कर दिया जाएगा।
साथ ही जो बेड खाली हैं, वो तुरंत प्रभाव से कोविड के लिए सुरक्षित करने के निर्देश दिए गए हैं। इसके साथ ही हमने कोविड अस्पतालों को 30 प्रतिशत तक कोविड-19 के बेड बढ़ाने का आदेश दिया है। यदि किसी अस्पताल के पास 100 बेड है, तो वो अपने अस्पताल में बेड बढ़ा कर 130 तक कर सकता है। जिसके पास 200 बेड है, वो 260 कर सकता है और जिनके पास 500 बेड है, वो उसे बढ़ा कर 650 तक कर सकते हैं। इसके साथ ही जो नए अस्पताल हैं, उन सभी अस्पतालों को कोविड में इस्तेमाल किया जाए
सत्येंद्र जैन ने कहा कि अभी भी दिल्ली के अस्पतालों में बेड की संख्या कम नहीं है। अभी भी दिल्ली में 50 प्रतिशत से ज्यादा अभी भी बेड खाली हैं। कुछ प्राइवेट अस्पतालों में आईसीयू बेड की दिक्कत आ रही है। दिल्ली में कोविड-19 के 14372 बेड हैं, जिसमें से 7938 बेड भरे हैं। अभी भी 50 प्रतिशत से ज्यादा बेड खाली हैं। इमरजेंसी में आईसीयू बेड की जरूरत पड़ती है। उसकी कहीं कमी न पड़ जाए, इसलिए आईसीयू बेड बढ़ाए जा रहे हैं। अभी केंद्र सरकार और दिल्ली सरकार के अस्पतालों में आईसीयू बेड अभी उपलब्ध हैं। कुछ प्राइवेट अस्पतालों में आईसीयू बेड लगभग खत्म हो गए थे, इसलिए उनमें बढ़ाए जा रहे हैं।
Share.

Leave A Reply