Wednesday, April 1

हिन्दू नववर्ष पर 178 साल बाद बन रहा है विशेष योगः डाॅ. राजेश ओझा।

0
73Shares

दिल्ली। चैत्र नवरात्रि हिन्दू नववर्ष 25 मार्च, 2020 से प्रारम्भ हो रहा है। आचार्य डाॅ. राजेश ओझा ने बताया कि इस बार विशेष योगों में नवरात्रि का पावन पर्व आ रहा है जो साधना, उपासना के लिए बहुत शुभ है। उन्होंने कहा कि 178 साल बाद विशेष ग्रहों, नक्षत्रों का योग है। नवरात्रि के पहले दिन हिन्दू नवसम्वत्सर 2077 प्रारम्भ होगा। इसी दिन ब्रह्माजी ने सर्वप्रथम सृष्टि की रचना की थी। इसे वर्ष प्रतिपदा भी कहते हैं। भगवान का मत्स्य अवतार भी इसी दिन हुआ था और इसी दिन सूर्य की पहली किरण पृथ्वी पर फैली थी। 9 ग्रह, 27 रक्षत्र, 12 राशियों का उदय भी इसी दिन हुआ था। 25 मार्च को शुरू होने वाले नवरात्रों में 6 प्रमुख योग पड़ रहे हैं।

25 मार्च को वर्ष प्रतिपदा, 26 मार्च को सर्वार्थ सिद्धि योग, 27 मार्च को सर्वार्थ सिद्धि योग, 28 मार्च को तिथि चतुर्थी, 29 मार्च को रवि योग, 30 मार्च को सर्वार्थ सिद्धि योग, 31 मार्च को सप्तमी, 1 अप्रैल को अष्टमी व 2 अप्रैल को श्रीराम नवमी सर्वार्थ सिद्धि योग हैं। 4 दिन सर्वार्थ सिद्धि योग, अमृत योग, रवि योग व योग पड़ रहा है। आचार्य ओझा ने बताया कि 25 मार्च को घट स्थापना का प्रातः 6:25 से 9:30 तक विशेष योग है। सुबह 11:00 बजे से 12:32 तक भी योग है। मकर राशि पर मंगल व शनि का योग और 30 मार्च को बृहस्पति का प्रवेश भी मकर राशि में होगा। इस बात माता नाव पर सवार होकर आएगी।

Share.

Leave A Reply