Loading...
Mon, Nov 29, 2021
Breaking News
image
रामकुमार का सामना रूसुवुओरी जबकि प्रजनेश का विर्तानेन /16 Sep 2021 06:26 AM/    104 views

डेविस कप में फिनलैंड के खिलाफ भारतीय टीम की राह आसान नहीं

 
एस्पू । भारतीय टेनिस खिलाड़ियों को शुक्रवार से यहां शुरू हो रहे डेविस कप विश्व ग्रुप वन मुकाबले में फिनलैंड के खिलाफ जीत के लिए पूरी ताकत लगानी होगी। भारत के प्रजनेश गुणेश्वरन और रामकुमार रामनाथन को बड़े मैच जीतने होंगे जिससे भारत अगले साल क्वालीफायर में जगह बना सके। भारत के दूसरी रैंकिंग वाले खिलाड़ी रामकुमार का सामना फिनलैंड के नंबर एक खिलाड़ी एमिल रूसुवुओरी से होगा जो विश्व रैंकिंग में 74वें स्थान पर है। रामकुमार अगर यह मुकाबला जीत जाते हैं तो भारत पर से दबाव कम हो जायेगा। ऐसे में प्रजनेश के लिये ओट्टो विर्तानेन के खिलाफ मुकाबला जीतना आसान हो जाएगा। प्रजनेश विश्व रैंकिंग में अभी 165वें और ओट्टो 419वें स्थान पर हैं। प्रजनेश अबतक बड़े मुकाबलों में बढत बनाने के बाद हारते आए हैं। उन्होंने कहा, ‘अच्छे खिलाड़ियों के खिलाफ मुकाबले करीबी रहते हैं। मैने उनके खिलाफ जीते भी हैं और हारे भी। करीबी मुकाबलों का परिणाम कुछ भी आ सकता है। भारत के लिए खेलते हुए कोई दबाव नहीं होता। कई बार दबाव अधिक होता है और कई बाद कम। यह इस पर निर्भर करता है कि आप उसका सामना कैसे करते हैं। वहीं अनुभवी लिएंडर पेस और महेश भूपति को भी जीत के कड़े प्रयास करने होंगे। युगल में रोहित बोपन्ना को दिविज शरण के साथ अच्छा प्रदर्शन करना होगा। उनका सामना हेनरी कोंटिनेन और हैरी हेलिओवारा जैसी कठिन जोड़ी से है। बोपन्ना और शरण ने एकमात्र मुकाबला साथ में मार्च 2019 में इटली के खिलाफ खेला है।
 

 

Leave a Comment