Loading...
Sun, Dec 04, 2022
Breaking News
image
10वें नंबर पर भारत, मुद्रास्फीति की दर 7.4 प्रतिशत /05 Nov 2022 02:11 PM/    22 views

दुनिया में सबसे ज्यादा महंगाई तुर्की और अर्जेंटीना में

नई दिल्ली । दुनियाभर में बढ़ती महंगाई से लोग परेशान हैं और वार्षिक मुद्रास्फीति दर असामान्य रूप से उच्च स्तर (85 प्रतिशत तक) पर है। महंगाई पर नियंत्रण पाने के लिए भारत में आरबीआई समेत अन्य देशों के सेंट्रल बैंक ब्याज दरों में लगातार आक्रामक रूप से बढ़ोतरी कर रहे हैं। अमेरिकी फेडरल रिजर्व ने बुधवार को ब्याज दर में 0.75 प्रतिशत की बढ़ोतरी की। यह ब्याज दरों में हुई इस साल की छठी वृद्धि थी। वहीं बैंक ऑफ इंग्लैंड ने भी ब्याज दर 2.25 प्रतिशत से बढ़ाकर 3 प्रतिशत कर दिया है, जो 33 वर्षों में सबसे ज्यादा है। वर्ल्ड ऑफ स्टेटिस्टिक्स द्वारा जारी किए गए आंकड़ों के अनुसार दुनिया में सबसे ज्यादा महंगाई तुर्की और अर्जेंटीना में है, यहां वार्षिक मुद्रास्फीति की दर 83 फीसदी से ज्यादा है। तुर्की में मुद्रास्फीति की दर 85.51 प्रतिशत है और यह 24 साल का उच्च स्तर है. उच्च मुद्रास्फीति के बावजूद राष्ट्रपति तैयप एर्दाेगन के कहने पर केंद्रीय बैंक अपनी नीतिगत दरों में कटौती कर रहा है। 
बढ़ती महंगाई के मामले में तुर्की के बाद अर्जेंटीना है, जहां मुद्रास्फीति की दर वर्तमान में 83 प्रतिशत है। नीदरलैंड में 14.5 प्रतिशत है; रूस (13.7 प्रतिशत, इटली (11.9 प्रतिशत), जर्मनी (10.4 प्रतिशत), यूके (10.1 प्रतिशत), यूएस (8.2 प्रतिशत) और दक्षिण अफ्रीका (7.5 प्रतिशत) है। वर्तमान में भारत में मुद्रास्फीति की दर 7.4 प्रतिशत है। इसके बाद ऑस्ट्रेलिया में 7.3 प्रतिशत, ब्राजील (7.1 प्रतिशत), कनाडा (6.9 प्रतिशत), फ्रांस (6.2 प्रतिशत), इंडोनेशिया (5.9 प्रतिशत), दक्षिण कोरिया (5.6 प्रतिशत), सऊदी अरब (3.1 प्रतिशत), जापान (3 प्रतिशत) और चीन (2.8 प्रतिशत) है।दुनिया भर में मुद्रास्फीति की उच्च दर वैश्विक स्तर पर केंद्रीय बैंकों को सख्त मौद्रिक नीति चुनने के लिए मजबूर कर रही है और ब्याज दरें बढ़ने से अर्थव्यवस्था को पर असर पड़ रहा है। रेटिंग एजेंसी क्रिसिल ने अपनी ताजा रिपोर्ट में कहा है कि सेंट्रल बैंक महंगाई पर नियंत्रण पाने के लिए आक्रामक तरीके से इंटरेस्ट रेट बढ़ाते हैं, तो ऐसे में सभी देशों की आर्थिक गतिविधियों में तेज गिरावट से बचना मुश्किल होगा।

Leave a Comment