Wed, Feb 01, 2023
Breaking News
image
बीएसएफ कर्मियों ने 22 से अधिक ड्रोन को मार गिराया व 45 किग्रा हेरोइन और हथियार जब्त किए पंजाब में सबसे ज्यादा 164 ड्रोन देखे गए /27 Dec 2022 01:35 PM/    45 views

2022 में तीन गुना बढ़ी भारतीय सीमा में पाक ड्रोनों के प्रवेश की संख्या

सोनिया शर्मा
नई दिल्ली । पाकिस्तान अपनी नापाक हरकतों से बाज नहीं आ रहा है। पाकिस्तान से ड्रोन भेजने का सिलसिला लगातार जारी है। इस साल भारत-पाकिस्तान सीमा पर ड्रोन देखे जाने की घटनाओं में तीन गुना वृद्धि हुई है। 2021 में जहां 104 ड्रोन देखे गए थे वहीं 2022 में 23 दिसंबर तक सीमा पर 311 ड्रोन देखे गए। सीमा सुरक्षा बल(बीएसएफ) द्वारा जुटाए गए डेटा में यह जानकारी दी गई है। भारत की पाकिस्तान के साथ 3323 किलोमीटर की सीमा जुड़ती है जिसकी बीएसएफ जवान सुरक्षा करते हैं। सीमा पार बढ़ी हुई ड्रोन गतिविधि को देखते हुए केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने स्वयं संज्ञान लिया है। वह बीएसएफ के शीर्ष अधिकारियों के साथ लगातार संपर्क में हैं और सीमा पार से जारी गतिविधियों पर नजर बनाए हुए हैं।
सन 2022 में सीमा पर ड्रोन प्रवेश करने की संख्या में पहले से तीन गुना बढ़ गई है। इतना ही नहीं ड्रोन के माध्यम से मादक पदार्थों की ही नहीं हथियारों और गोला-बारूद की तस्करी भी बड़े पैमाने पर की जा रही है। हालांकि बीएसएफ कर्मियों की सतर्कता के कारण 22 से अधिक ड्रोन को मार गिराया और लगभग 45 किलोग्राम हेरोइन और हथियारों और गोला-बारूद का जखीरा जब्त किया गया जिसमें सात ग्रेनेड दो मैगजीन 60 गोला-बारूद और अन्य हथियार शामिल थे।
पंजाब में सबसे ज्यादा 164 अमृतसर में 96 गुरदासपुर में 84 फिरोजपुर में और 25 अबोहर जिले में ड्रोन देखे गए। वहीं जम्मू सीमा पर इंद्रेश्वर नगर में कुल 35 जम्मू में 29 और सुंदरबनी में 11 ड्रोन देखे गए। इसी तरह राजस्थान से सटी पाकिस्तान सीमा पर श्रीगंगानगर में 32 बाड़मेर में सात बीकानेर और जैसलमेर उत्तर में तीन-तीन जैसलमेर दक्षिण में दो और भुज में एक ड्रोन देखा गया।
1 जनवरी 2020 से 23 दिसंबर 2022 तक भारत-पाकिस्तान सीमा पर देखे गए कुल 492 यूएवी या ड्रोन में से इस साल 311 2021 में 104 और 2020 में 77 देखे गए। देखे गए कुल ड्रोन में से 369 यूएवी पंजाब में 75 जम्मू में 40 राजस्थान में और 8 गुजरात में देखे गए।
राजस्थान में श्री गंगानगर में 32 बाड़मेर में सात बीकानेर और जैसलमेर उत्तर में तीन-तीन जैसलमेर दक्षिण में दो और भुज में एक ड्रोन देखा गया। आंकड़ों से यह भी पता चला कि इस साल 1 जुलाई से 23 दिसंबर के बीच कुल 206 ड्रोन देखे गए उनमें से अधिकतम 45 ड्रोन अगस्त में देखे गए इसके बाद सितंबर में 44 अक्टूबर में 38 नवंबर में 36 और दिसंबर में 24 ड्रोन देखे गए।
बीएसएफ के अधिकारियों ने हाल ही में बताया था कि पाकिस्तान द्वारा सीमा पार हथियारों विस्फोटकों और नशीले पदार्थों की तस्करी के लिए पाकिस्तान द्वारा ड्रोन का इस्तेमाल किया जा रहा है। सीमा पार बढ़ी हुई ड्रोन गतिविधि को देखते हुए केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने स्वयं संज्ञान लिया था और उन्होंने अक्टूबर में श्रीनगर में एक सुरक्षा समीक्षा बैठक की थी जिसमें शीर्ष सुरक्षा और खुफिया प्रमुख उपस्थित थे।
 

Leave a Comment