Loading...
Mon, Nov 29, 2021
Breaking News
image
अमेरिका की कंपनी आम्ब्री इंक के पास कई पेटेंटेड टेक्नोलॉजी और डिजाइन है /10 Aug 2021 02:16 AM/    161 views

सोलर एनर्जी कारोबार में दखल बढ़ाने के लिए रिलायंस सोलर आम्ब्री में करेगी 5 करोड़ डॉलर का निवेश

सोनिया शर्मा
नई दिल्ली। सोलर एनर्जी कारोबार में प्रवेश करने की घोषणा के 2 महीने बाद रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड आरआईएल की पूर्ण स्वामित्व वाली इकाई रिलायंस न्यू एनर्जी सोलर लिमिटेड आरएनईएसएल ने आंम्ब्री इंक में निवेश करने का फैसला किया है। रिलायंस ने रणनीतिक निवेशक पॉलसन एंड कंपनी इंक और बिल गेट्स समेत कुछ अन्य निवेशकों के साथ आम्ब्री इंक में 14.4 करोड डालर का निवेश करने का फैसला किया है। रिल की सहयोगी कंपनी रिलायंस न्यू एनर्जी सोलर ;आरएनएसईएल अमेरिका स्थित एनर्जी स्टोरेज कंपनी आम्ब्री इनकारपोरेटेड में 5 करोड़ डॉलर का निवेश करेगी। रिलायंस न्यू एनर्जी सोलरए पॉल्सन एंड कंपनी और माइक्रोसॉफ्ट के बिल गेट्स समेत कई निवेशक एंब्री इनकारपोरेटेड में कुल 14.4 करोड़ डॉलर का निवेश करेंगे। रिलायंस इंडस्ट्रीज की पूर्ण स्वामित्व वाली इकाई आरएनएसईएल ने कहा है कि वहा आम्ब्री इनकारपोरेटेड के 4.23 करोड़ शेयर खरीदेगी। आम्ब्री इनकारपोरेटेड के एक बयान में कहा है कि इन निवेश से अमेरिका की इस कंपनी को अपने लॉन्ग ड्यूरेशन एनर्जी स्टोरेज सिस्टम को अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर विकसित और कमर्शियलाइज करने में सहायता मिलेगी। आरएनएसईएल आम्ब्री इनकारपोरेटेड में 4.23 करोड़ शेयर खरीदने के लिए 5 करोड़ डॉलर का निवेश करने जा रही है। अमेरिका की कंपनी आम्ब्री इंक के पास कई पेटेंटेड टेक्नोलॉजी और डिजाइन है। इसमें 4 से 24 घंटे तक का बैटरी बैकअप शामिल है। अमेरिका की आम्ब्री इंक लंबी अवधि का एनर्जी स्टोरेज सिस्टमए लागत बैटरी के काम करने की क्षमता और सुरक्षा संबंधी चिंताओं को दूर करने में रिलायंस की काफी मदद कर सकती है। लीथियम आयन बैटरी का ग्रेड स्केल स्टेशनरी स्टोरेज एप्लीकेशन में प्रयोग होता है और इसके समाधान पर एम्ब्री इंक कई सालों से काम कर रही है जिसमें उसे काफी सफलता मिली है। आम्ब्री इंक में निवेश के बाद रिलायंस इंडस्ट्री एनर्जी स्टोरेज सॉल्यूशन पा सकेगी। इससे अक्षय ऊर्जा को इलेक्ट्रिक पावर ग्रिड में सप्लाई करने में मदद मिल सकेगी। भारत के सबसे अमीर व्यक्ति और रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड आरआईएल के मुखिया मुकेश अंबानी सोलर पावर मैन्युफैक्चरिंग के लिए बोली लगाने पर विचार कर रहे हैं। अब तक पेट्रोलियम कारोबार कर रहे मुकेश अंबानी अब क्लीन एनर्जी सेक्टर में प्रवेश करना चाहते हैं। रिलायंस ने सरकार द्वारा सोलर पावर सेक्टर को दिए जा रहे सब्सिडी प्रोग्राम के बारे में जानने के लिए एक प्री बिड मीटिंग में हाल में ही भाग लिया। इस मामले से जुड़े सूत्रों ने नाम नहीं जाहिर करने की शर्त पर यह जानकारी दी। आरएनएसईएल ने कहा है कि वह एम्ब्री इनकारपोरेटेड के साथ भारत में बैटरी बनाने वाली बड़ी यूनिट लगाने के लिए बातचीत कर रही है। 

Leave a Comment