Loading...
Sun, Dec 04, 2022
Breaking News
image
फिर कन्नड़ सिनेमा के लिए एक नया बेंचमार्क स्थापित किया /20 Oct 2022 01:32 PM/    36 views

फिल्म ‘कंतारा’ के जरिए हो रही ऋषभ शेट्टी की सराहना

 
 
मुम्बई । आजकल फिल्म ‘कंतारा’ के जरिए ऋषभ शेट्टी खूब सराहे जा रहे हैं। कंतारा फिल्म की हर ओर चर्चा हो रही है और इसने एक बार फिर कन्नड़ सिनेमा के लिए एक नया बेंचामार्क स्थापित किया है। 
खास बात ये है कि कंतारा का निर्देशन और एक्टिंग दोनों ही ऋषभ शेट्टी ने बेहतर ढंग से किया है। दिलचस्प बात ये है कि इस फिल्म को पैन इंडिया के रूप में प्लान नहीं किया गया था लेकिन जब लोगों ने इसे पसंद किया तो फिर मुख्य भाषाओं में कंतारा को डब किया गया। हाल ही में एक इंटरव्यू के दौरान एक्टर और डायरेक्टर ऋषभ शेट्टी ने कन्नड़ सिनेमा के नए उदय के बारे में बातचीत की है जिसके कुछ अंश हम आपसे साझा कर रहे हैं।ऋषभ शेट्टी ने हाल ही में पिंकविला से बातचीत में कन्नड़ फिल्म इंडस्ट्री को सभी प्यार और प्रशंसा मिलने पर खुशी व्यक्त की जिसके लिए वे हमेशा से डिजर्व करती है। उन्होंने कहा, ‘लोग आखिरकार हमें पहचान रहे हैं। एक समय था जिसे हम कन्नड़ सिनेमा का ‘स्वर्ण युग’ मानते थे। लेकिन बाद में एक दौर ऐसा भी आया जब फिल्मों की गुणवत्ता कहीं गिर गई। हालांकि, केजीएफ जैसी ब्लॉक बस्टर मूवी और होम्बले फिल्म्स जैसे प्रोडक्शन बैनर ने कुछ पथ-प्रदर्शक फिल्में दी हैं। इसने इंडस्ट्री में फिल्म निर्माताओं के लिए और अधिक खोज करने के लिए एक नया रास्ता बनाया है।’निर्माता ने आगे कहा, ‘सिनेमा में इन दिनों कई बड़े बदलाव हो रहे हैं। 
बॉलीवुड, टॉलीवुड, या सैंडलवुड पर आधारित भेदभाव धीरे-धीरे फीके पड़ रहे हैं। हम भारतीय फिल्म इंड्स्ट्री बन रहे हैं और हमने शुरुआत में ये फिल्म केवल कन्नड़ में बनाई थी। क्योंकि मैं इस कंटेट को पहले अपनी भाषा में ही बनाना चाहता था, जो इस संस्कृति में गहराई से निहित है। हालांकि बाद में पूरी दुनिया ने इस फिल्म को इतने शानदार तरीके से स्वीकार किया है कि इसे लोगों ने हमसे इसे हिंदी और अन्य भाषाओं में रिलीज करने के लिए कहना शुरू कर दिया। दर्शकों ने सिनेमा को एक अलग नजरिए से देखना शुरू कर दिया है।’ होम्बले फिल्म्स द्वारा निर्देशित कंतापा तटीय कर्नाटक के केराडी क्षेत्र की पृष्ठभूमि पर आधारित है। 
 

 

Leave a Comment